Spirituality

इस बार महाशिवरात्रि पर 117 साल बाद बन रहा दुर्लभ संयोग

janmat jagran

महाशिवरात्रि का पर्व फाल्गुन कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाता है। आचार्य सुशांत राज के मुताबिक इस बार 117 साल बाद महाशिवरात्रि पर दुर्लभ संयोग बन रहा है। इन दिन शनि स्वराशि मकर में और शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में होगा। इसके साथ ही 28 साल बाद इस दिन विष योग बन रहा है। शुक्रवार को बुधादित्य और ...

Read More »

देशभर में धूमधाम से मनाई जा रही है बकरीद

देहरादून। देशभर के साथ ही देहरादून में भी ईद-उल-जुहा (बकरीद) का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। देहरादून में इस दौरान शहर की दो मुख्य ईदगाहों के अलावा विभिन्न मस्जिदों में भी ईद की नमाज अदा की गई। नमाज के बाद लोगों ने एक दूसरे के गले लगकर मुबारकबाद दी और देश के लिए अमन और चैन की दुआ ...

Read More »

जानिए, आखिर क्यों मनाई जाती है बकरीद

नई दिल्ली। पूरे साल में मुस्लमानों के लिए दो ईद बहुत महत्वपूर्ण होती है एक ईद-उल-फितर जिसे मीठी ईद कहते हैं, और दूसरा बकरीद जिसे बड़ी ईद या ईद-उल-जुहा भी कहते हैं। इस त्योहार को कुर्बानी से जोड़कर देखा जाता है, मगर एक सच यह भी है कि यह त्योहार हज के पूरा होने की खुशी में मनाया जाता है। इस ...

Read More »

भोले की बारात में यहां शिरकत करती हैं अदृश्य शक्तियां

भोपाल। महाशिवरात्रि पर हर ओर अलग ही माहौल नजर आता है। भोलेनाथ के विवाहके अवसर पर विधि-विधान से पूजा पाठ किया जाता है और परंपरा अनुसार बारातनिकाली जाती है, लेकिन सर्वाधिक और सबसे अलग माहौल अगर कहीं देखने मिलताहै तो वह है भोले बाबा की नगरी काशी में, यहां शिव पार्वती के विवाह कीतैयारियों का अनोखा ही नजारा देखने मिलता ...

Read More »

देहरादून में होगा विशाल शोभायात्रा का आयोजन

देहरादून। आगामी 19 अप्रैल को श्री बाला जी के जन्मोत्सव पर देहरादून में एक विशाल शोभायात्रा का आयोजन होने जा रहा है। यह आयोजन श्री पृथ्वीनाथ जी सेवादल मंदिर एवँ अखिल भारतीय हिंदू क्रांतिदल के द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है। यह जानकारी अखिल भारतीय हिंदू क्रांतिदल के उत्तराखंड प्रदेश मीडिया प्रभारी सचिन जैन ने दी। उन्होंने मीडिया को ...

Read More »

तुलसी कौन थी? और क्यों होती है पूजा

तुलसी (पौधा): तुलसी पूर्व जन्म मंे एक लड़की थी। जिसका नाम वृंदा था, राक्षस कुल में उसका जन्म हुआ था बचपन से ही भगवान विष्णु की भक्त थी। बड़े ही प्रेम से भगवान की सेवा, पूजा किया करती थी। जब वह बड़ी हुई तो उनका विवाह राक्षस कुल में दानव राज जलंधर से हो गया। जलंधर समुद्र से उत्पन्न हुआ ...

Read More »

‘वास्तविक में धनवान’ वही है जिसके जीवन में ‘संतोष’ धन है  – साध्वी सुश्री ममता भारती जी

देहरादून। दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान, देहरादून के आश्रम सभागार में प्रत्येक रविवार को साप्ताहिक सत्संग-प्रवचनों एवं भावपूर्ण भजनों का भव्य कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। आज भी ऐसा ही कार्यक्रम आयोजित हुआ। असंख्य भक्त श्रद्धालुगणों की उपस्थिति में संस्थान के प्रचारकों द्वारा नश्वर संसार की असंख्य उपलब्धियों के बीच जीवन निर्वाह कर रहे मानव के भीतर व्याप्त संतोष तथा धैर्य ...

Read More »

ईश्वर पुत्र ढोल : उत्तराखण्ड की संस्कृति विलुप्ति की कगार पर

देहरादून । ढोल को सृष्टि का प्राचीनतम् वाद्य कहा गया है। वेदों, पुराणों महाभारत तथा रामायण में इसका उल्लेख मिलता है। ढोल को सर्वप्रथम भगवान शिव ने ही धारण किया और संसार के सृजन का क्रम ढोल नाद से हुआ। जिस प्रकार वेद सर्वप्रथम ब्रह्माजी के मुख से निकले उनका विधिवत् आलेखन एवं विभाजन कर उन्हें चार वेदों का स्वरूप ...

Read More »

हमारी नियुक्ति जनता की सेवा के लिए हुई है : जिलाधिकारी

रुद्रपुर। जन समस्याओं का त्वरित गति से निराकरण हेतु अभिनव पहल करते हुए जिलाधिकारी चन्द्रेश कुमार यादव ने आज कलक्ट्रेट परिसर में स्थित जिला आपदा प्रबन्धन प्रकोष्ठ में ’’लोक शिकायत निवारण केन्द्र’’ का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों से कहा कि हमारी नियुक्ति जनता की सेवा के लिए हुई है इसलिए जन समस्याओं का समय पर समाधान ...

Read More »